Parveen Shakir

परवीन शाकिर  Parveen ShakirParveen Shakir (24 November 1952 – 26 December 1994) was a Pakistani poet, teacher and a civil servant of the Government of Pakistan. She is best known for her poems, which brought a distinctive feminine voice to Urdu literature, and for her consistent use of the rare grammatical feminine gender for the word “lover”.

Since her death, the “Parveen Shakir Urdu Literature Festival” has been held every year in Islamabad in her memoriam.

परवीन शाकिर एक उर्दू कवयित्री, शिक्षक और पाकिस्तान की सरकार की सिविल सेवा में एक अधिकारी थीं। वे उर्दू शायरी में एक युग का प्रतिनिधित्व करती हैं। उनकी शायरी का केन्द्रबिंदु स्त्री रहा है। फ़हमीदा रियाज़ के अनुसार ये पाकिस्तान की उन कवयित्रियों में से एक हैं जिनके शेरों में लोकगीत की सादगी और लय भी है और क्लासिकी संगीत की नफ़ासत भी और नज़ाकत भी। उनकी नज़्में और ग़ज़लें भोलेपन और सॉफ़िस्टीकेशन का दिलआवेज़ संगम है।

Some of Parveen Shakir Top Shayari’s – 

Read All poems of Parveen Shakir listed here – 

 

[Bio Credit – Wikipedia]