Songs of Freedom | Indian Independence Day Song 1 | आज़ादी के नगमें – १

आज देश का सबसे पड़ा पर्व, सबसे बड़ा जश्न का दिन है…जश्न-ए-आज़ादी का दिन. तो इस अवसर पर आज पूरे दिन सुनिए कलाम-ए-मोहब्बत पर कुछ देशभक्ति गाने. नए, पुराने सभी गाने को यहाँ संजोने की कोशिश की जायेगी. फ़िलहाल तो पेश है आपके सामने उस फिल्म के तीन गीत जो शायद हम सब के बचपन से जुड़ा हुआ गीत है. जागृति फिल्म के गाने चाहे वो “साबरमती के संत” गाना हो, या फिर “हम लाये हैं तूफ़ान से कश्ती निकाल के” या फिर कवि प्रदीप का लिखा और उन्ही के आवाज़ का गया ये खूबसूरत गीत “आओ बच्चों तुम्हें दिखाए झांकी हिंदुस्तान की”. हम में से शायद हर किसी के बचपन से ये गाने जुड़े हुए हैं. आज भी इस गाने को सुन कर लगता है जैसे हम भी ट्रेन के उस सफ़र में मास्टर जी के साथ सफ़र कर रहे हैं और बच्चों के साथ बैठे हुए मास्टर जी को गाते हुए सुन रहे हैं. सच में हमारे हिंदुस्तान की झाँकी दिखाई देती है इस गाने में. आज की सुबह इसी गाने से शुरुआत करते हैं.

Song in this Section : Aao Bachchon Tumhen Dikhaaye Jhaanki Hindustan Ki, De Di Humen Aazadi, Hum Laaye Hain Toofan Se Kashti, Insaaf Ki Dagar Pe, 

Song: Aao Bachchon Tumhe Dikhaaye | आओ बच्चों तुम्हें दिखाये
Film: Jagriti | जागृति
Music: Hemant Kumar | हेमंत कुमार
Lyrics : Pradeep | प्रदीप
Singer : Pradeep|  प्रदीप 
Aao bachchon tumhen dikhaayen, jagriti, pradeep, hemant kumar, patriotic song of india
आओ बच्चों तुम्हें दिखाये झाँकी हिंदुस्तान की
इस मिट्टी से तिलक करो ये धरती हैं बलिदान की
वंदे मातरम , वंदे मातरम …
उत्तर में रखवाली करता पर्वतराज विराट हैं
दक्षिण में चरणों को धोता सागर का सम्राट हैं
जमुना जी के तट को देखो गंगा का ये घाट हैं
बाट-बाट में हाट-हाट में यहाँ निराला ठाठ हैं
देखो ये तस्वीरें अपने गौरव की अभिमान की
इस मिट्टी से तिलक करो ये धरती हैं बलिदान की
वंदे मातरम , वंदे मातरम …
ये हैं अपना राजपूताना नाज़ इसे तलवारों पे
इसने सारा जीवन काटा बरछी तीर कटारों पे
ये प्रताप का वतन पला हैं आज़ादी के नारों पे
कूद पड़ी थी यहाँ हज़ारों पद्मिनियाँ अंगारों पे
बोल रही है कण कण से कुरबानी राजस्थान की
इस मिट्टी से तिलक करो ये धरती हैं बलिदान की
वंदे मातरम , वंदे मातरम …
देखो मुल्क मराठों का यह यहाँ शिवाजी डोला था
मुग़लों की ताकत को जिसने तलवारों पे तोला था
हर पर्वत पे आग जली थी हर पत्थर एक शोला था
बोली हर-हर महादेव की बच्चा-बच्चा बोला था
शेर शिवाजी ने रखी थी लाज हमारी शान की
इस मिट्टी से तिलक करो ये धरती हैं बलिदान की
वंदे मातरम , वंदे मातरम …
जलियाँवाला बाग ये देखो, यही चली थी गोलियाँ
ये मत पूछो किसने खेली यहाँ खून की होलियाँ
एक तरफ़ बंदूकें दन दन एक तरफ़ थी टोलियाँ
मरनेवाले बोल रहे थे इन्कलाब की बोलियाँ
यहाँ लगा दी बहनों ने भी बाजी अपनी जान की
इस मिट्टी से तिलक करो ये धरती हैं बलिदान की
वंदे मातरम , वंदे मातरम …
ये देखो बंगाल यहाँ का हर चप्पा हरियाला हैं
यहाँ का बच्चा-बच्चा अपने देश पे मरनेवाला हैं
ढाला है इसको बिजली ने भूचालों ने पाला हैं
मुट्ठी में तूफ़ान बंधा हैं और प्राण में ज्वाला हैं
जन्मभूमि है यही हमारे वीर सुभाष महान की
इस मिट्टी से तिलक करो ये धरती है बलिदान की
वंदे मातरम , वंदे मातरम …
X——–X
Ao bachchon tumhen dikhaaye jhaanki hindustaan ki
Is mitti se tilak karo, ye dharati hai balidaan ki
Wnde maataram, wnde maataram …
Uttar men rakhawaali karata parwataraaj wiraat hai
Dakshin men charanon ko dhota saagar ka samraat hai
Jamuna ji ke tat ko dekho gnga ka ye ghaat hai
Baat-baat men haat-haat men yahaan niraala thhaathh hai
Dekho ye taswiren apane gauraw ki abhimaan ki
Is mitti se tilak karo ye dharati hai balidaan ki
Wnde maataram, wnde maataram …
Ye hai apana raajaputaana naaj ise talawaaron pe
Isane saara jiwan kaata barachhi tir kataaron pe
Ye prataap ka watan pala hai ajaadi ke naaron pe
Kud padi thi yahaan hajaaron padminiyaan angaaron pe
Bol rahi hai kan kan se kurabaani raajasthaan ki
Is mitti se tilak karo ye dharati hai balidaan ki
Wnde maataram , wnde maataram …
Dekho mulk maraathhon ka yah yahaan shiwaaji dola tha
Muglon ki taakat ko jisane talawaaron pe tola tha
Har parwat pe ag jali thi har patthar ek shola tha
Boli har-har mahaadew ki bachcha-bachcha bola tha
Sher shiwaaji ne rakhi thi laaj hamaari shaan ki
Is mitti se tilak karo ye dharati hai balidaan ki
Wnde maataram, wnde maataram …
Jaliyaanwaala baag ye dekho yahi chali thi goliyaan
Ye mat puchho kisane kheli yahaan khun ki holiyaan
Ek taraf bnduken dan dan ek taraf thi toliyaan
Maranewaale bol rahe the inkalaab ki boliyaan
Yahaan laga di bahanon ne bhi baaji apani jaan ki
Is mitti se tilak karo ye dharati hai balidaan ki
Wnde maataram, wnde maataram …
Ye dekho bngaal yahaan ka har chappa hariyaala hai
Yahaan ka bachcha-bachcha apane desh pe maranewaala hai
Dhaala hai isako bijali ne bhuchaalon ne paala hai
Mutthhi men tufaan bndha hai aur praan men jwaala hai
Janmabhumi hai yahi hamaare wir subhaash mahaan ki
Is mitti se tilak karo ye dharati hai balidaan ki
Wnde maataram, wnde maataram …


Song : De Di Humen Aazadi | दे दी हमें आज़ादी  
Film : jagriti | जागृति
Music : Hemant Kumar | हेमंत कुमार
Lyrics: Pradeep | प्रदीप
Singer: Aasha Bhonsle | आशा भोंसले 



दे दी हमें आज़ादी बिना खड्ग बिना ढाल
साबरमती के सन्त तूने कर दिया कमाल
आँधी में भी जलती रही गाँधी तेरी मशाल
साबरमती के सन्त तूने कर दिया कमाल
दे दी हमें आज़ादी बिना खड्ग बिना ढाल..
धरती पे लड़ी तूने अजब ढंग की लड़ाई
दागी न कहीं तोप न बंदूक चलाई
दुश्मन के किले पर भी न की तूने चढ़ाई
वाह रे फ़कीर खूब करामात दिखाई
चुटकी में दुश्मनों को दिया देश से निकाल
साबरमती के सन्त तूने कर दिया कमाल
दे दी हमें आज़ादी बिना खड्ग बिना ढाल..
रघुपति राघव राजा राम
शतरंज बिछा कर यहाँ बैठा था ज़माना
लगता था मुश्किल है फ़िरंगी को हराना
टक्कर थी बड़े ज़ोर की दुश्मन भी था ताना
पर तू भी था बापू बड़ा उस्ताद पुराना
मारा वो कस के दांव के उलटी सभी की चाल
साबरमती के सन्त तूने कर दिया कमाल
दे दी हमें आज़ादी बिना खड्ग बिना ढाल..
रघुपति राघव राजा राम
जब जब तेरा बिगुल बजा जवान चल पड़े
मज़दूर चल पड़े थे और किसान चल पड़े
हिंदू और मुसलमान, सिख पठान चल पड़े
कदमों में तेरी कोटि कोटि प्राण चल पड़े
फूलों की सेज छोड़ के दौड़े जवाहरलाल
साबरमती के सन्त तूने कर दिया कमाल
दे दी हमें आज़ादी बिना खड्ग बिना ढाल..
रघुपति राघव राजा राम
मन में थी अहिंसा की लगन तन पे लंगोटी
लाखों में घूमता था लिये सत्य की सोंटी
वैसे तो देखने में थी हस्ती तेरी छोटी
लेकिन तुझे झुकती थी हिमालय की भी चोटी
दुनिया में भी बापू तू था इन्सान बेमिसाल
साबरमती के सन्त तूने कर दिया कमाल
दे दी हमें आज़ादी बिना खड्ग बिना ढाल..
रघुपति राघव राजा राम
जग में जिया है कोई तो बापू तू ही जिया
तूने वतन की राह में सब कुछ लुटा दिया
माँगा न कोई तख्त न कोई ताज भी लिया
अमृत दिया तो ठीक मगर खुद ज़हर पिया
जिस दिन तेरी चिता जली, रोया था महाकाल
साबरमती के सन्त तूने कर दिया कमाल
दे दी हमें आज़ादी बिना खड्ग बिना ढाल
साबरमती के सन्त तूने कर दिया कमाल
रघुपति राघव राजा राम
X———–X
De di hamen ajaadi bina khadg bina dhaal 
Saabaramati ke snt tune kar diya kamaal 
Andhi men bhi jalati rahi gaandhi teri mashaal 
Saabaramati ke snt tune kar diya kamaal 
Dharati pe ladi tune ajab dhng ki ladaai 
Daagi na kahin top na bnduk chalaai 
Dushman ke kile par bhi n ki tune chadhaai 
Waah re fakir khub karaamaat dikhaai 
Chutaki men dushmanon ko diya deshase nikaal 
Saabaramati ke snt tune kar diya kamaal 
De di hamen ajaadi bina khadg bina dhaal 
Saabaramati ke snt tune kar diya kamaal  
Raghupati raaghaw raaja raam 
Shatarnj bichhaakar yahaan baithha tha jmaana 
Lagata tha ke mushkil hai firngi ko haraana 
Takkar thi bade jor ki dushman bhi tha taana 
Par tu bhi tha baapu bada ustaad puraana 
Maara wo kas ke daanw ke ulati sabhi ki chaal 
Saabaramati ke snt tune kar diya kamaal 
De di hamen ajaadi bina khadg bina dhaal 
Saabaramati ke snt tune kar diya kamaal 
Raghupati raaghaw raaja raam 
Jab jab tera bigul baja jawaan chal pade 
Majdur chal pade the aur kisaan chal pade 
Hindu aur musalamaan, sikh pathhaan chal pade 
Kadamon pe tere koti koti praan chal pade 
Fulon ki sej chhod ke, daude jawaahar laal 
Saabaramati ke snt tune kar diya kamaal 
De di hamen ajaadi bina khadg bina dhaal 
Saabaramati ke snt tune kar diya kamaal 
Raghupati raaghaw raaja raam 
Man men thi ahinsa ki lagan tan pe lngoti 
Laakhon men ghumata tha lie saty ki sonti 
Waise to dekhane men thi hasti teri chhoti 
Lekin tujhe jhukati thi himaalay ki bhi chhoti 
Duniya men tu bejod tha insaan bemisaal 
Saabaramati ke snt tune kar diya kamaal 
De di hamen ajaadi bina khadg bina dhaal 
Saabaramati ke snt tune kar diya kamaal . 
Raghupati raaghaw raaja raam 
Jag men koi jiya hai to baapu tu hi jiya 
Tune watan ki raah pe sab kuchh luta diya 
Maanga na koi takht na koi taaj bhi liya 
Amrit diya sabhi ko, magar khud jhar piya 
Jis din teri chita jali, roya tha mahaakaal 
Saabaramati ke snt tune kar diya kamaal 
De di hamen ajaadi bina khadg bina dhaal 
Saabaramati ke snt tune kar diya kamaal 
Raghupati raaghaw raaja raam

Song: Hum Laaye  hain Toofaan Se | हम लाये हैं तूफ़ान से   
Movie: Jagriti | जागृति
Music: Hemant Kumar | हेमंत कुमार
Lyrics : Pradeep | प्रदीप
Singer: Mohd Rafi | मोहम्मद रफ़ी 
पासे सभी उलट गए दुश्मन की चाल के

अक्षर सभी पलट गए भारत के भाल के
मंज़िल पे आया मुल्क हर बला को टाल के
सदियों के बाद फिर उड़े बादल गुलाल के 
हम लाए हैं तूफ़ान से कश्ती निकाल के
इस देश को रखना मेरे बच्चों सम्भाल के
तुम ही भविष्य हो मेरे भारत विशाल के
इस देश को रखना मेरे बच्चों सम्भाल के
देखो कहीं बरबाद ना होए ये बगीचा
इसको हृदय के खून से बापू ने है सींचा
रक्खा है ये चिराग़ शहीदों ने बाल के, 
इस देश को रखना मेरे बच्चों सम्भाल के
दुनिया के दांव पेंच से रखना ना वास्ता
मंज़िल तुम्हारी दूर है लम्बा है रास्ता
भटका ना दे कोई तुम्हें धोखे में डाल के, 
इस देश को रखना मेरे बच्चों सम्भाल के
ऐटम बमों के जोर पे ऐंठी है ये दुनिया
बारूद के इक ढेर पे बैठी है ये दुनिया
तुम हर कदम उठाना ज़रा देख भाल के,
इस देश को रखना मेरे बच्चों सम्भाल के
आराम की तुम भूल भुलय्या में ना भूलो
सपनों के हिंडोलों पे मगन होके ना झूलो
अब वक़्त आ गया है मेरे हँसते हुए फूलों
उठो छलाँग मार के आकाश को छू लो
तुम गाड़ दो गगन पे तिरंगा उछाल के, 
इस देश को रखना मेरे बच्चों सम्भाल के
X———–X
Paase sabhii ulaT gae dushman kii chaal ke 
Akshar sabhii palaT gae bhaarat ke bhaal ke 
Manzil pe aayaa mulk har balaa ko Taal ke 
sadiyion ke baad phir ude badal gulaal ke 
Hum laae hain toofaan se kashti nikaal ke 
Is desh ko rakhanaa mere bachcho.n sambhaal ke 
Tum hii bhavishhy ho mere bhaarat vishaal ke 
Is desh ko rakhanaa mere bachchon sambhaal ke 
Dekho kahii.n barabaad na hoe ye bagiichaa 
Isako hriday ke khuun se baapuu ne hai sinchaa 
Rakkhaa hai ye chirag shahiidon ne baal ke, is desh ko…
Duniyaa ke daanv pench se rakhanaa na vaastaa 
Manzil tumhaarii dur hai lambaa hai raastaa 
Bhatakaana de koii tumhen dhokhe men daal ke, is desh ko…
Atom bamon ke jor pe ainthii hai ye duniyaa 
Baaruud ke ik dher pe baithii hai ye duniyaa 
Tum har kadam uthaanaa zaraa dekha bhaal ke, is desh ko…
Aaraam kii tum bhuul bhulayyaa men na bhuulo 
Sapanon ke hindolon pe magan hoke na jhuulo 
Ab vaqt aa gayaa hai mere hansate hue phuulon 
Utho chhalaang maar ke aakaash ko chhuu lo 
Tum gaad do gagan pe tirangaa uchhaal ke, is desh ko… 



Song: Insaaf Ki Dagar Pe | इन्साफ की डगर पे  

फिल्म गंगा जमुना का एक बेहद खूबसूरत गीत है, “इन्साफ की डगर पे, बच्चों दिखाओ चल के”. वो चाहे कोई सा भी वक़्त हो, जब ये गीत लिखा गया था वो वक्त, हमारा बचपन या आज का दौर, ये गीत हर दौर के बच्चों के लिए है. कितना सुन्दर सन्देश है इस गीत में बच्चों के लिए. आज इस स्वतंत्रता दिवस पर आईये अपने बच्चों को फिर से ये बात सिखाये….इन्साफ की डगर पे, बच्चों दिखाओ चल के / ये देश है तुम्हारा, नेता तुम्ही हो कल के.

Film : Ganga Jamuna | गंगा-जमुना 

Music : Naushad | नौशाद
Lyrics : Shakeel Badayuni | शकील बदायुनी
Singer: Hemant Kumar | हेमंत कुमार 
इन्साफ की डगर पे, बच्चों दिखाओ चल के
ये देश है तुम्हारा, नेता तुम्ही हो कल के
दुनिया के रंज सहना और, कुछ ना मुँह से कहना
सच्चाईयों के बल पे, आगे को बढ़ते रहना
रख दोगे एक दिन तुम, संसार को बदल के
इन्साफ की डगर पे, बच्चों दिखाओ चल के
ये देश है तुम्हारा, नेता तुम्ही हो कल के
अपने हों या पराए, सब के लिए हो न्याय
देखो कदम तुम्हारा, हरगिज़ ना डगमगाए
रस्ते बड़े कठिन हैं, चलना संभल-संभल के
इन्साफ की डगर पे, बच्चों दिखाओ चल के
ये देश है तुम्हारा, नेता तुम्ही हो कल के
इन्सानियत के सर पे, इज़्ज़त का ताज रखना
तन मन की भेंट देकर, भारत की लाज रखना
जीवन नया मिलेगा, अंतिम चिता में जल के
इन्साफ की डगर पे, बच्चों दिखाओ चल के
ये देश है तुम्हारा, नेता तुम्ही हो कल के…
X——X
Insaaf ki dagar pe, bachchon dikhaao chal ke
Ye desh hai tumhaara, neta tum hi ho kal ke
Duniya ke rnj sahana aur kuchh na munh se kahana
Sachchaaiyon ke bal pe, age ko baढ़ate rahana
Rakh doge ek din tum snsaar ko badalake
Apane ho ya paraae, sab ke lie ho nyaay
Dekho kadam tumhaara haragij na dagamagaae
Raste bade kathhin hain, chalana snbhal snbhal ke
Insaaniyat ke sar pe ijjat ka taaj rakhana
Tan man ki bhet dekar bhaarat ki laaj rakhana
Jiwan naya mileg antim chita men jal ke