दिल की बात कही नहीं जाती – मीर

Dil Ki Baat Kahin Nahi Jaati – This ghazal has been penned by Meer Taqi Meer. Various artist has sung this ghazal. We have selected Begam Akhtar and Mohammad Rafi version here.

Meer Taqi Meer

Song :- Dil Ki Baat Kahin Nahi Jaati
Singer :- Begum Akhtar / Mohammad Rafi
Traditional Music
Lyricist :- Meer Taqi Mer

दिल की बात कही नहीं जाती, चुप के रहना ठाना है

दिल की बात कही नहीं जाती, चुप के रहना ठाना है
हाल अगर है ऐसा ही तो जी से जाना जाना है

सुर्ख़ कभू है आँसू होती ज़र्द् कभू है मूँह मेरा
क्या क्या रंग मोहब्बत के हैं, ये भी एक ज़माना है

फ़ुर्सत है यां कम रहने की, बात नहीं कुछ कहने की
आँखें खोल के कान जो खोले बज़्म-ए-जहां अफ़साना है

तेग़ तले ही उस के क्यूँ ना गर्दन डाल के जा बैठें
सर तो आख़िरकार हमें भी हाथ की ओर झुकाना है

  • Listen to this ghazal in the voice of Begum Akhtar on – Youtube
  • Listen to this ghazal in the voice of Mohammad Rafi on – Youtube

Want More Like This?

Get Hindi and Punjabi Songs Lyrics, Poetry, Ghazals and Song Quotes directly in your MailBox

Ghazals Latest!

Most Loved!

Latest Posts!