Aaye Hain Samjhane Log Lyrics – Papon and Pratibha Singh Baghel

Presenting Aaye Hain Samjhane Log Lyrics. This is soulful rendition of popular Ghazal by Jagjit Singh Aaye Hain Samjhane. This ghazal has been sung by Papon and Pratibha Singh Baghel.

Aaye Hain Samjhane Log Lyrics - Papon and Pratibha Singh Baghel

Song: Aaye Hain Samjhane Log
Artist: Papon and Pratibha Singh Baghel
Music Director: Papon
Drums by Tanmay Ray Choudhury

Aaye Hain Samjhane Log Lyrics

आए हैं समझाने लोग
आए हैं समझाने लोग
हैं कितने दीवाने लोग
हैं कितने दीवाने लोग
आए हैं समझाने लोगदैर-ओ-हरम में चैन जो मिलता
दैर-ओ-हरम में चैन जो मिलता
क्यूं जाते मैखाने लोग
क्यूं जाते मैखाने लोग

हैं कितने दीवाने लोग
आए हैं समझाने लोग

जान के सब कुछ कुछ भी ना जाने
जान के सब कुछ कुछ भी ना जाने
हैं कितने अनजाने लोग
हैं कितने अनजाने लोग
आए हैं समझाने लोग

वक़्त पे काम नहीं आते हैं
वक़्त पे काम नहीं आते हैं
ये जाने पहचाने लोग
ये जाने पहचाने लोग
आए हैं समझाने लोग

अब जब मुझको होश नहीं है
अब जब मुझको होश नहीं है
आए हैं समझाने लोग
आए हैं समझाने लोग

हैं कितने दीवाने लोग
हैं कितने दीवाने लोग
आए हैं समझाने लोग

Want More Like This?

Get Hindi and Punjabi Songs Lyrics, Poetry, Ghazals and Song Quotes directly in your MailBox

Ghazals Latest!

Most Loved!

Latest Posts!