Kaise Chhupa-un Raaz-e-Gham – Hasrat Mohani

Kaise Chhupa-un Raaz-e-Gham(कैसे छुपाऊँ राज़-ए-ग़म ) is a ghazal by Hasrat Mohani. The ghazal has been sung beautifully by Mehdi Hassan. He has also composed the song.

Kaise Chhupa-un Raaz-e-Gham - Hasrat Mohani | Mehdi Hassan

Song Name – Kaise Chhupa-un Raaz-e-Gham
Singer – Mehdi Hassan
Lyrics – Hasrat Mohani
Music Composer – Mehdi Hassan
Music Label – Sony Music Entertainment India Pvt. Ltd.

कैसे छुपाऊँ राज़-ए-ग़म दीदा-ए-तर को क्या करूँ
दिल की तपिश को क्या करूँ सोज़-ए-जिगर को क्या करूँ

शोरिश-ए-आशिक़ी कहाँ और मेरी सादगी कहाँ
हुस्न को तेरे क्या कहूँ अपनी नज़र को क्या करूँ

ग़म का न दिल में हो गुज़र वस्ल की शब हो यूँ बसर
सब ये क़ुबूल है मगर ख़ौफ़-ए-सहर को क्या करूँ

हाल मेरा था जब बतर तब न हुई तुम्हें ख़बर
ब’अद मेरे हुआ असर अब मैं असर को क्या करूँ

Want More Like This?

Get Hindi and Punjabi Songs Lyrics, Poetry, Ghazals and Song Quotes directly in your MailBox

Ghazals Latest!

Most Loved!

Latest Posts!