Songs of Freedom | Indian Independence Day Song 3 | Purab Aur Paschim | आज़ादी के नगमें – 3 पूरब और पश्चिम

Hai preet jahan ki reet sada,dulhan chali song purab aur paschim songs manoj kumar patriotic song

देशभक्ति फिल्मों और गानों में शायद पूरब और पश्चिम फिल्म का एक अलग ही स्थान है. जब से ये फिल्म रिलीज हुई है तब से ये सबसे मशहूर देशभक्ति फिल्मों के श्रेणी में शायद सबसे आगे है. इसके गाने चाहे वो “है प्रीत जहाँ की रीत सदा” हो, या “दुल्हन चली…” हो, ये गाने आज भी लोगों के जबान पर चढ़े हुए हैं. इन दोनों देशभक्ति गानों के अलावा भी इस फिल्म का एक गाना, मुकेश की आवाज़ में “कोइ जब तुम्हारा हृदय तोड़ दे”, काफी मशहूर हुआ था..आज भी वो गाना बेहद लोकप्रिय है. तो आज की महफिल में सुनिए पूरब और पश्चिम फिल्म के गाने…

Song: Hai Preet Jahan Ki Reet |  है प्रीत जहाँ की रीत सदा    

Film: Purab Aur Paschim | पूरब और पश्चिम
Music : Kalyanji-Anandji | कल्याण जी-आनंद जी 
Lyrics: Indiveer | इन्दीवर 
Singer: Mahendra Kapoor | महेंद्र कपूर 
जब ज़ीरो दिया मेरे भारत ने, भारत ने मेरे भारत ने
दुनिया को तब गिनती आयी, तारों की भाषा भारत ने
दुनिया को पहले सिखलायी..
देता ना दशमलव भारत तो, यूँ चाँद पे जाना मुश्किल था
धरती और चाँद की दूरी का, अंदाज़ लगाना मुश्किल था
सभ्यता जहाँ पहले आयी, पहले जनमी है जहाँ पे कला
अपना भारत जो भारत है, जिसके पीछे संसार चला
संसार चला और आगे बढ़ा, ज्यूँ आगे बढ़ा, बढ़ता ही गया
भगवान करे ये और बढ़े, बढ़ता ही रहे और फूले-फले
है प्रीत जहाँ की रीत सदा, मैं गीत वहाँ के गाता हूँ
भारत का रहने वाला हूँ, भारत की बात सुनाता हूँ
काले-गोरे का भेद नहीं, हर दिल से हमारा नाता है
कुछ और न आता हो हमको , हमें प्यार निभाना आता है
जिसे मान चुकी सारी दुनिया, मैं बात वोही दोहराता हूँ
भारत का रहने वाला हूँ, भारत की बात सुनाता हूँ
जीते हो किसीने देश तो क्या, हमने तो दिलों को जीता है
जहाँ राम अभी तक है नर में, नारी में अभी तक सीता है
इतने पावन हैं लोग जहाँ, मैं नित-नित शीश झुकाता हूँ
भारत का रहने वाला हूँ, भारत की बात सुनाता हूँ
इतनी ममता नदियों को भी, जहाँ माता कहके बुलाते है
इतना आदर इन्सान तो क्या, पत्थर भी पूजे जातें है
इस धरती पे मैंने जनम लिया, ये सोच के मैं इतराता हूँ
भारत का रहने वाला हूँ, भारत की बात सुनाता हूँ
X—–X
Jab ziro diya mere bhaarat ne, duniya ko tab ginati ai 
Taaron ki bhaasha bhaarat ne duniya ko pahale sikhalaai 
Deta na dashamalaw bhaarat to yun chaand pe jaana mushkil tha
Dharati aur chaand ki duri ka andaaja lagaana mushkil tha
Sabhyata jahaan pahale ai, pahale janmi hai jahaan pe kala
Apana bhaarat wo bhaarat hai jis ke pichhe snsaar chala
Snsaar chala aur age badha, yun age badha, badhta hi gaya
Bhagawaan kare ye aur badhe, badhta hi rahe aur fule fale
Hai prit jahaan ki rit sada, main git wahaan ke gaata hun
Bhaarat ka rahanewaala hun, bhaarat ki baat sunaata hun 
Kaale gore ka bhed nahin, har dil se hamaara naata hai
Kuchh aur n ata ho hamako, hamen pyaar nibhaana ata hai
Jise maan chuki saari duniya, main baat wahi doharaata hun 
Bhaarat ka rahane waala hun, bhaarat ki baat sunaata hun 
Jite ho kisi ne desh to kya, hamane to dilon ko jita hai
Jahaan raam abhi tak hai nar men, naari men abhi tak sita hai
Itane paawan hain log jahaan, main nit nit shish jhukaata hun 
Bhaarat ka rahane waala hun, bhaarat ki baat sunaata hun 
Itani mamata nadiyon ko bhi, jahaan maata kah ke bulaate hain 
Itana adar insaan to kya, patthar bhi puje jaate hain 
Us dharati pe maine janam liya, ye soch ke main itaraata hun 
Bhaarat ka rahane waala hun, bhaarat ki baat sunaata hun 



Song: Dulhan Chali |  दुल्हन चली 

Hai preet jahan ki reet sada,dulhan chali song purab aur paschim songs manoj kumar patriotic song

Film: Purab Aur Paschim | पूरब और पश्चिम
Music : Kalyanji-Anandji | कल्याण जी-आनंद जी 
Lyrics: Indiveer | इन्दीवर 
Singer: Mahendra Kapoor | महेंद्र कपूर 

दुल्हन चली, ओ पहन चली, तीन रंग की चोली
बाहों में लहराये गंगा जमुना, देख के दुनिया डोली
दुल्हन चली, ओ पहन चली, तीन रंग की चोली
ताजमहल जैसी ताजा है सूरत
चलती फिरती अजंता की मूरत
मेल मिलाप की मेहंदी रचाये
बलिदानों की रंगोली..
दुल्हन चली, ओ पहन चली, तीन रंग की चोली
और चमकेगी अभी और निखरेगी
चढ़ती उमरिया है और निखरेगी
अपनी आज़ादी की दुल्हनिया बीस के ऊपर होली
दुल्हन चली, ओ पहन चली, तीन रंग की चोली
मुख चमके ज्यों हिमालय की चोटी
हो ना पड़ोसी की नीयत खोटी
ओ घर वालों जरा इसको बचाना
ये तो है बड़ी भोली..
दुल्हन चली, ओ पहन चली, तीन रंग की चोली
देश प्रेम ही आज़ादी की दुल्हनिया का वर है
इस अलबेली दुल्हन का सिन्दूर सुहाग अमर है
माता है कस्तूरबा जैसी बाबुल गांधी जैसे
चाचा जिसके नेहरु शास्त्री डरें ना दुश्मन कैसे
डरें ना दुश्मन कैसे
जिसके लिये जवान बहा सकते हैं ख़ून की गंगा
आगे पीछे तीनों सेना ले के चलें तिरंगा
सेना चलती है ले के तिरंगा
 
हों कोई हम प्रान्त के वासी हों कोई भी भाषा-भाषी
सबसे पहले हैं भारतवासी
सबसे पहले हैं भारतवासी
दुल्हन चली, ओ पहन चली, तीन रंग की चोली
बाहों में लहराये गंगा जमुना, देख के दुनिया डोली
दुल्हन चली, ओ पहन चली, तीन रंग की चोली
X———X
Purab men suraj ne chhedi jab kiranon ki shahanaai 
Chamak uthha sindur gagan pe pashchim tak laali chhaai 
Dulhan chali, o pahan chali, tin rng ki choli
Baahon me laharaaye gnga jamuna, dekh ke duniya doli
Dulhan chali, o pahan chali 
Taajamahal jaisi taaja hai surat
Chalati firati ajnta ki murat
Mel milaap ki mehndi rachaae, balidaanon ki rngoli 
Dulhan chali, o pahan chali
Mukh chamake jyun himaalay ki choti
Ho na padosi ki niyat khoti
O gharawaalo jra isako snbhaalo, ye to hai badi bholi
Dulhan chali, o pahan chali
Aur sajegi abhi aur snwaregi  
Chadhti umariya hai aur nikharegi
Apani ajaadi ki dulhaniya, bis ke upar ho li
Dulhan chali, o pahan chali
Desh prem hi ajaadi ki dulhaniya ka war hai
Is alabeli dulhan ka sindur suhaag amar hai
Maata hai kasturaba jaisi, baabul gaandhi jaise
Chaacha isake neharu shaastri, dare n dushman kaise
Wir shiwaaji jaise wiran, lakshmibaai bahana
Lakshman jis ke bos, bhagat sing, usaka fir kya kahana
Jisake lie jawaan baha sakate hai khun ki gnga 
Age pichhe tino sena le ke chale tirnga 
Sena chalati hai le ke tirnga 
Ho koi ham praant ke waasi, ho koi bhi bhaasha bhaashi 
Sabase pahale hain bhaaratawaasi 


Want More Like This?

Get Hindi and Punjabi Songs Lyrics, Poetry, Ghazals and Song Quotes directly in your MailBox

Latest Lyrics

You would love this!

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Get Songs Lyrics, Poetry, Ghazals and Song Quotes