और आहिस्ता कीजिये बातें

Title – और आहिस्ता कीजिये बातें – Aur aahista kijiye baaten
Album – Wo chaandni Raaten

Lyricist : Zafar Gorakhpuri,

Singer : Pankaj Udhas

और आहिस्ता कीजिये बातें

धड़कनें कोई सुन रहा होगा 
लब्ज़ गिरने ना पाये होंठों से 
वक़्त के हाथ इनको चुन लेंगे 
कान रखते हैं यह दरों-दीवार 
राज की सारी बात सुन लेंगे 
और आहिस्ता कीजिये बातें 
ऐसे बोलो के दिल का अफ़साना 
दिल सुने और निगाह दोहराये 
अपने चारों तरफ की यह दुनियाँ 
साँस का शोर भी ना सुन पाये, 
ना सुन पाये 
आईये बंद कर ले दरवाजे 
रात सपने चुरा ना ले जाये कोई 
झोंका हवा का आवारा दिल की 
बातों को उड़ा ना ले जाये , 
ना ले जाये 
आज इतने करीब आ जाओ 
दूरियों का कहीं निशान ना रहें 
ऐसे एक दूसरे में गुम हो जायें 
फासला कोई दरमियाँ ना रह जाये ,
ना रह जाये
और आहिस्ता कीजिये बातें

धड़कनें कोई सुन रहा होगा 

Want More Like This?

Get Hindi and Punjabi Songs Lyrics, Poetry, Ghazals and Song Quotes directly in your MailBox

Latest Lyrics

You would love this!

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Get Songs Lyrics, Poetry, Ghazals and Song Quotes